Posts

Showing posts from December, 2016

संसद कैसे चलेगी?

नमस्कार! भारतीय संसद में आपका स्वागत है,इसके तीन अंग है,लोकसभा+राज्सभा+राष्ट्रपति, जिनके ऊपर संसदीय प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने का दारोमदार है,दूसरी भाषा में “संसद लोगों की वह सर्वोत्कृष्ट संस्था है जिसके माध्यम से लोगो की प्रभुसत्ता को अभिव्यक्ति मिलती है| पहले संसद का काम केवल बनाना ही होता था पर आज यह राजनितिक और वित्तीय नियंत्रण,प्रशासन की निगरानी,जवाबदेही,हिसाबदेही,शिकायते,शिक्षित करना,मंत्रा देना,व् राष्ट्रिय एकता सुनिश्स्चित करना भी है,जो एक लोकतान्त्रिक देश को और मजबूती प्रदान करती है| आज की बात यह है संसद के दोनों सदनों में हंगामा बहुत होता,संसद थप रहती है,सत्र धुल जाते है,कानून अटके रहते है,और सरकार कहती है की संसद न चलने का कारण विपक्ष का दिवालियापन है?,और मीडिया आपको बार-बार यह तर्क देता रहता है की आपकी मेहनत की कमाई से बसूला गया टैक्स युहीं खपता जा रहा है,अब मैं जनता हूँ की आप का खून खौल रहा होगा लेकिन सब्र कीजिये आज हम संसद न चलने के लिए जवाबदेही और हिसाबदेही की लिए जिम्मेवार व्यक्ति को टटोलने की कोशिस करेंगे, क्यूंकि सवाल केवल टैक्स भरने तक का नही है- इसके लिए हमें …

नोटबंदी वाया देशप्रेम?

Image
दिनांक 08/11/2016 को प्रधानमंत्री ने यह ऐलान किया की उस रात 12:00 बजे से 1000 व् 500 के नोट कागज के टुकड़े हो जायेगें और कानूनन अमान्य होगें,इस फैसले ने देश 86% करेंसी को रद्दी कर दिया और इसे बैंक में जमा करने को कहकर उतनी ही मुद्रा की नयी करेंसी पाने का आव्हान किया,यह फैसला देश के नागरिकों पर बिजली की तरह गिरा और इस फैसले की आलोचना से बचने के लिए सरकार ने इसे कालेधन व् भ्रष्टाचार पर कार्यवाही से जोड़ दिया/जोड़ रही है,और 125 करोड़ जनता से 50 दिन मांगे है और कहा है की देश 50 दिन बाद सोने जैसा चमकेगा| हाँ सोने से ध्यान आया की भारत की जनता के पास इतना सोना,चांदी,हीरा,जवाहरात है की यदि सरकार के पास आ जाये तो अर्थव्यस्था जरूर सोने की तरह चमकेगी और देश की अर्थव्यवस्था दुनिया की नंबर 1 अर्थव्यवस्था बन जाएगी,लेकिन छोडिये वह सब तो सफ़ेद धन है?, ध्यान में आता है की वर्तमान सरकार ने 100 दिन के अंदर विदेशों में जमा 80 लाख करोड़ कालाधन वापस लाने को कहा था लेकिन वह तो आया नही और न आ पायेगा?, क्यूंकि उस कालेधन को लाने के लिए सन 1976 से प्रयास हो रहा और सत्ता बदलती गयी लेकिन कालाधन नही आया?,ध्…