Posts

Showing posts from August, 2016

बेटियों की प्रसंशा झूठी है?

ओलेम्पिक शुरू हुए लगभग 10 दिन हो चुके थे,अमेरिका सबसे ज्यादा मैडल ले जा चूका था ,हम भारतीय एक पदक की आस में रात भर टेलीविजन के सामनें बैठे रहते पदक नही आता,कभी लगा की आज भारतीय तीरंदाजी टीम भारत को एक पदक दिला देगी पर आखिरी वक्त में हार गई,गतवर्ष के स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा से भी उम्मीदें ख़त्म हो गई थी,ऐसे में भारत के छोटे से राज्य त्रिपुरा से आई भारत की 22 वर्ष की बेटी दीपा करमाकर ने एक एतिहासिक ख्याति दर्ज की वो अब 52 साल बाद पहली भारतीय महिला बनी थी जिन्होंने जिमनास्टिक के वाल्ट फाइनल में जगह बनायीं थी,मनो सारी उम्मीदें,आशायें फिर से जाग्रत हो गई,पुरे देश ने उन्हें सराखों पर बिठाया और एक पदक की उम्मीद लेकर बैठ गए लेकिन दीपा भी फाइनल में अच्छे प्रदर्शन करते हुए 4th स्थान रहीं,मैडल से एक कदम दूर,थोड़ी निराशा हुई पर इस नन्ही से बेटी ने करोणों भारतियों का दिल जीत लिया.
एक मौका और निकल चूका था अब मुकाबला होना था 58 kg महिला कुश्ती का जिसमे भारत की तरफ से अगुवाई कर रहीं थी हरियाणा-रोहतक की साक्षी मालिक,देर रात टीवी देखने के बाद उदासी का मंज़र आ गया और टीवी बंद करदी,पर यह रात वह रात …